जिला प्रसासन  की बेरूखी और लापरवाही के चलते सालों से रास्ते का काम पूरा न होने पर ग्रामीणों ने उठाया रास्ते को बनाने का जिम्मा

HamirPur Himachal

सत्य खबर, हमीरपुर (अरविंदर सिंह)

.जिला प्रसासन  की बेरूखी और लापरवाही के चलते सालों से रास्ते का काम पूरा न होने पर ग्रामीणों ने खुद ही रास्ते को बनाने का जिम्मा उठा लिया। घनाल कलां के दर्जनों ग्रामीणों ने खुद ही गैंती, बेलचा उठाकर रास्ते को दुरूस्त करने के लिए काम ष्षुरू कर दिया है।  गत दो साल पहले बरसात के समय नगर परिषद के अंतिम छोर पर घनाल कलां को जानने वाले रास्ता तेज पानी से क्षतिग्रस्त हो गया था और हमीरपुर के साथ लगते घनाल कंला के लोगो को रास्ते की समस्या से पिछले दो सालो से  दो चार होना पड रहा  है। जिससेलोगो में नगर परिषद केप्रति गहरा रोष पनप रहा है। हर साल स्थानीय युवको द्वारा आवाजाही करने के लिए रास्ता बनाया जा रहा है। आपको बता दें कि नगर परिषद द्वारा रास्ते के नाम पर एक डंगा बनाया गया है जिससे लोगोको आवाजाही करते समय दुर्घटना का भय बना रहता है। रास्ता टूटा हुआ होने से बच्चों को भी स्कूल से आने जाने के लिए हर समय परिजनों को चिंता सताती रहती है। लोगो का कहना है पिछले दो सालोसे डंगे से होकर ही जाना पडता है कई बार इस समस्या के बारे में कमेटी को बताया गया नगर परिषद के ईओ को मौके भी कई बार दिखाया गया लेकिन आज दिन तक समस्या का कोई समाधान नही पाया है। उन्हेने बताया कि बअगर कोई बीमार हो जाता है तो उसको वाया बडू लेजाना पडता है जिससे की हमीरपुर पहुचने में एक घण्टा लग  जाताहै । लोगो ने प्रशासन से  मांग करते हुए कहा कि  जल्द से  जल्द इस रास्तेको  बनाया जाएताकि ग्रामीणो को आने  जाने  में कोई दिक्कत ना हो ।