तेज रफ्तार आंधी-तुफान व बरसात का कहर, सैंकड़ो मकान गिरे!

Haryana Palwal

सत्यखबर हथिन (सुखदेव तेवतिया) – गांव किशोरपुर में तेज रफ्तार से आए आंधी-तुफान व बरसात ने इस तरह कहर बरपाया कि गांव में सैंकड़ो मकान गिर गए और सैंकड़ो पेड़ टूटकर रास्तों में आ गिरे। वहीं टीन-टप्परो के उखडऩे व इनके नीचे दबने से पशुओं की मौत हो गई। गांव के लोगो की 4 दिन बीत जाने के बाद हालचाल पूछा तो पीड़ित ग्रामीण गनमीन दिखाई दिए और कैमरे के सामने ग्राम पंचायत व् प्रसाशन द्वारा कोई भी सुविधा ने देने तक बात कह डाली

पलवल के गांव किशोरपुर ,टहरकी,मंदपुरी सहित कई गाँवो में 4 दिन पहले उस समय त्राहि-त्राहि मच गई जब आंधी-तुफान के साथ बरसात ने भी गांव में कहर बरपाया। आंधी-तुफान इतना भयंकर था कि गांव में सैंकड़ो मकान धवस्त हो गए और रास्तों के किनारे खड़े लगभग सैंकड़ो पेड़ तीनके की भांति उखडक़र नीचे गिए। जिससे गांव के सारे रास्ते बंद हो गए। पेड़ो के टुटने से गांव में रास्तों में खड़े वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए। तेज रफ्तार से आंधी-तुफान के साथ आई बरसात ने भी इस तरह कहर ढाया कि बिजली के कई पोल टुट गए और इन पोलों पर लगे बिजली ट्रांस्फार्मर नीचे गिए और गांव में बिजली आपूर्ति पूर्णरुप से बाधित हो गई।

4 दिन बीत जाने के बाद जब हमारे संवादाता गांव किशोरपुर में जायजा लेने और पीड़ित परिवारों का दुखड़ा सुनने पहुंचे तो ग्रामीणों ने बताया कि वीरवार दोपहर बाद करीब साढ़े चार अचानक से आंधी-तुफान आया और इसी के साथ ही बरसात शुरू हो गई। देखते-देखते सैंकड़ो मकान जमीन पर आ गिरे और सैंकड़ो पेड़ भी तिनके की भांति उखड़ गए आज भी सर्दी में पशुओं के लिए कोई ठंड से बचने के लिए इंतजाम नहीं हे जिससे दुधारू हो या उनके छोटे बच्चे रत को खुले में ढंड से जूझ रहे हे और आपदा के 4 दिन बाद भी कई परिवार भूखे बताये गए हे वही कई ग्रामीण घायल अवस्था में अपने पड़े हुए हे और अपने अपने दुखो को सुनते व पंचायत की पोल खोलते नजर आये

ग्रामीणों की कैमरे के सामने बताई आपबीती और खाने पीने जैसी जनसुविधाओ के आभाव को देखते हुए गांव के सरपंच से पूछा गया तो सरपंच ने तो अपना बड़प्पन जताते हुए कहा की आपदा के बाद खुद सरपंच ने जिला प्रसाशन को फोन करके ही गांव में बुलाया था अब गांव में कोई ग्रामीण भूखा नहीं हे सरपंच ने ग्रामीणों के आरोपों को गलत ही बता दिया ,जरा गौर से सुनिए सरपंच द्वारा कहि गयी इन बातो को

किशोरपुर में कांग्रेस की पलवल महिला जिला अध्यक्ष सविता चौधरी ने भी जाकर महिलाओ से घर घर जाकर उनकी आपबीती सुनी और उनकी सुविधाओं के बारे में जानकारी जुटाई ग्राम पंचायत द्वारा कोई भी खाने पीने व इलाज सुविधा मिलने पर कहा की या तो आपदा पीड़ित लोगो के नुकसान की भरपाई करने में सरकार व जिला प्रसासन जल्दी करे नहीं तो पीड़ितों के साथ किसी भी हद तक जाने के लिए वो हर समय तैयार हे चाहे कोई भी आंदोलन उन्हें करना पड़े

अब देखने वाली बात ये हे की क्या ग्रामीण झूठ बोल रहे या जनसुविधा लेने बाद ग्रामीण सरपंच और प्रसासन को बदनाम कर रहे हे