पीजीआई के बॉय हॉस्टल के रूम में मिला एमबीबीएस फाइनल ईयर के छात्र का शव!

0
17

सत्यखबर रोहतक (दिनेश कौशिक) – अज्ञात कारणों के चले पीजीआईएमएस रोहतक में फाइनल ईयर के छात्र प्रशांत चौहान ने बॉय हॉस्टल के कमरा नम्बर 658 में जहर खा कर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। घटाना की सूचना पर पुलिस व एफएसएल की टीम मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए पीजीआई भेज दिया गया। फिलहाल मामले की जांच चल रही है। हालांकि अभी तक सुसाइड के कारण का खुलासा तो नही हो पाया है। लेकिन एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें प्रशांत ने अपनी मौत के लिए किसी को जिम्मेदार नही माना है। भाई का कहना है कि मां की मौत के बाद से प्रशांत परेशान रहता था।

पीजीआई के बॉय हॉस्टल के स्वामी विवेकानंद ब्लॉक में आज अचानक से बदबू आनी शुरू हो गई। जब तलाश की गई तो बदबू 658 नम्बर रूम से आ रही थी। दरवाजा तोड़ कर देखा तो हिसार के रहने वाले प्रशांत का शव कम्बल में था। जोकि एमबीबीएस फाइनल ईयर का छात्र था। प्रारम्भिक दृष्टि से ऐसा प्रतीत हुआ कि उसने कोई जहरीली चीज खाई है। सूचना पुलिस को दी गई, एफएसएल व पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। जांच पड़ताल में एक सुसाइड नोट भी मिला, जिस पर लिखा था कि मैं सुसाइड कर रहा हूँ, मेरी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नही है।

घटना की सूचना परिजनों को दी गई, प्रशान्त के भाई हेमन्त ने बताया कि 2 दिन पहले फोन पर बात हुई थी, उसने पापा से पैसे मांगे थे। लेकिन फिर मोबाइल बन्द हो गया। आज इस घटना की सूचना के बाद वे पहुंचे हैं। साथ ही हेमन्त का कहना है कि एक साल पहले हमारी मां की मौत हो गई थी, जिसके बाद से प्रशांत परेशान रहता था। इसी वजह से उसने यह कदम उठाया है।

वही सूचना मिलने के बाद पीजीआई निदेशक डॉ रोहताश यादव भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने बताया कि शव 2-3 दिन पुराना लग रहा है। फिलहाल पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उन्होंने कहा छात्रों के मानसिक तनाव को दूर करने के लिए पीजीआई काउंसलिंग करता रहता है। फिर भी इस तरह का कदम उठा लेते हैं।