प्राइवेट स्कूलों की मनमानी, नहीं दे रहे गरीबी रेखा से नीचे के विद्यार्थियों को दाखिला

Gurgaon Haryana

सत्यखबर गुरुग्राम (गौतम वशिष्ठ) – साइबर सिटी गुरुग्राम में प्राइवेट स्कूलों की मनमानी कम होने का नाम नही ले रही है । 134 ए के तहत जिन गरीब बच्चों को प्राइवेट स्कूल में दाखिला मिलना था उनके अभिभावक दाखिले के लिए एक स्कूल से दूसरे स्कूल और शिक्षा विभाग के चक्कर लगाने को मजबूर है । दरअसल सेक्शन 134 ए के तहत बीपीएल और ईडब्लूएस कैटेगरी के बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में दाखिला देना अनिवार्य है । लेकिन देखने मे ये आया है कि काफी स्कूल सीट ना होने की बात कह इन बच्चों को दाखिल नही दे रहे है ।

स्कूलों की मनमानी के खिलाफ अभिभावक कई बार शिक्षा विभाग से लेकर डिप्टी कमिश्नर को शिकायत कर चुके है । लेकिन इस सब के बावजूद स्कूल अपनी मनमानी पर अड़े हुए है । मंगलवार को ये सभी अभिभावक अपनी शिकायत लेकर कैबिनेट मंत्री राव नरबीर सिंह से भी मिलने पहुँचे । वही दूसरी तरफ जिला प्रशासन इस मामले के संज्ञान लेकर जल्द कार्यवाही की बात कर रहा है ।

जिला प्रशासन स्कूलों पर कार्यवाही की बात तो कर रहा है लेकिन सवाल ये है कि बेलगाम हो चुके प्राइवेट स्कूलों पर ये कार्यवाही कब और किस रूप में होगी ये कोई नही जानता है । हालात ये है कि अपने बच्चों के सुनहरे भविष्य के लिए दर दर की ठोकर खा रहे इन अभिभावकों को अब ये समझ नही आ रहा है कि जिस कानून के तहत उनके बच्चों को शिक्षा का अधिकार मिला है इस अधिकार को इन्हें दिलाएगा कौन…क्योंकि काफी बच्चे तो इनमें ऐसे भी है जिन्होंने पुराने स्कूल से पाना नाम इस उम्मीद में कटवा लिया था कि कल से सेक्शन 134 ए उनके लिए किसी बड़े प्राइवेट स्कूल का दरवाजा खोलेगा ।