बुथ नंबर-88 के पीठासीन अधिकारी अमित अत्री व विजय रावत के खिलाफ मामला दर्ज

Haryana Palwal

सत्यखबर पलवल (मुकेश बघेल) – गांव असावटी से लोकसभा चुनावों के दौरान वायरल हुई दूसरी वीडियों की जांच पड़ताल व गांव के मौजिज लोगों से गहन पूछताछ के बाद सदर थाना पुलिस द्वारा बुथ नंबर-88 के पीठासीन अधिकारी अमित अत्री व मतदान को प्रभावित करने वाले गांव असावटी निवासी विजय रावत के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया जहां से उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया।

पलवल सदर थाना प्रभारी कुलदीप सिंह ने बताया कि 12 मई को लोकसभा चुनाव के दौरान एक वीडियो वायरल हुई जिसमें पोलिंग ऐजेंट महिला मतदाताओं को सहायता करने को लेकर खुद बटन दबा रहा है। इस संबंध में पुलिस ने बुथ के पीठासीन अधिकारी की शिकायत पर पोलिंग ऐजेंट गिर्राज के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था। इसके कुछ देर बाद दुसरी वीडियो वायरल हुई जिसमें कहा गया कि गांव का सरपंच कर्ण पहलवान पर इसी तरह से वोट डलवाने व खुद डालने का आरोप लगा। इस संबंध में सहायक रिटर्निंग अधिकारी, 84 पलवल की तरफ से शिकायत दर्ज कराई गई कि दुसरी विडियो की गहन जांच पड़ताल कराई गई और सरपंच कर्ण को बुलाकर वोट कार्ड मंगवाया गया तो सामने आया कि सरपंच कर्ण का वोट बुथ नंबर 87 में है और उस दिन वह गलती से बुथ नंबर 88 में चला गया था।

सरपंच कर्ण जब बुथ नंबर 88 से बाहर निकल रहा था तो उसी समय वीडियो बनाया गया जिसमें मशीन के पास दो व्यक्ति दिखाई दे रहे जिसमें एक व्यक्ति से सरपंच को जोडकर देखा जा रहा था। सरपंच, नंबरदारों के बयान दर्ज कर व विडियो की जांच के बाद पाया गया कि उस समय जो व्यक्ति बुथ के अंदर मशीन पर मतदान कर रहा है कि वह गांव निवासी महेंद्र है और जो व्यक्ति महेंद्र के साथ खड़ा होकर मतदान को प्रभावित कर रहा है वो गांव निवासी विजय रावत है। पुलिस ने इस संबंध में शिकायत के आधार पर बुथ नंबर 88 के पीठासीन अधिकारी अमित अत्री व विजय रावत के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है और कार्रवाई शुरू कर दी है।