बेशक हमारी भाषा लठमार लेकिन इसमें प्यार भी बहुत है – सतीश कौशिक

Haryana Samalkha

सत्यखबर समालखा (अनिश कौशिक) – छौरियां छोरों से कम नहीं होती अपनी हरियाणवी फिल्म के प्रमोशन को लेकर बॉलीवुड एक्टर, डायरेक्टर, प्रोड्यूसर सतीश कौशिक सोमवार को आशादीप सीसी स्कूल पावटी रोड पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जहां अपने कॉमेडियन अंदाज में बच्चों को लोटपोट किया वहीं 17 मई को रिलीज हो रही फिल्म छौरियां छोरों से कम नहीं होती के बारे में बताया। स्कूल में एयर बैलून थियेटर में बच्चों तथा अभिभावकों को फिल्म की स्पेशल स्क्रीनिंग दिखाई गई। इससे पहले स्कूल पहुंचने पर चेयरमैन डा० देवेन्द्र आर्य, श्रीमति नीरज आर्य, प्रिंसिपल विनय डोगरा ने सतीश कौशिक का फूलमालाओं से स्वागत किया। इस दौरान नवोदित कलाकर अंजू गौड़ भी उनके साथ थी।

पत्रकारों से बात करते हुए सतीश कौशिक ने कहा कि यह फिल्म बेटियों के लिए बनाई है। बेशक हमारी भाषा लठमार है लेकिन इसने प्यार भी बहुत है। छोरियां हर वो काम कर सकती हैं जो छोरे कर सकते हैं।

हरियाणा का रहने वाला हूं और यहां की मिट्टी ने मुझे मुम्बई तक पहुंचाया है। लेकिन हरियाणा की फिल्म इंडस्ट्री नहीं है। भोजपुरी, पंजाबी, उडिय़ा, बंगाली फिल्म इंडस्ट्री है मेरी यह इच्छा है कि हरियाणावी फिल्म बनाऊं ताकि यहां फिल्म इंडस्ट्री स्थापित हो। यह फिल्म हमारा पहला पड़ाव है।

बेटियों के रास्ते का रोड़ा ना बने अभिभावक- कौशिक ने कहा कि यह फिल्म बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ विषय पर आधारित है। इससे अभिभावकों को प्रेरणा मिलेगी कि वे अपनी बेटियों के रास्ते में रोड़ा ना बने बल्कि बेटियों को आगे बढ़ाएं जिससे वो उनके सपनों को पूरा कर सकें। फिल्म में कोई फूहड़ता नहीं है और पूरा परिवार मिलकर इसे देख सकते हैं।