यमुनानगर में हुए महिला हत्याकांड को सीआईए 2 शाखा ने सुलझाया, नोकर ही निकला साइको किलर

Haryana YamunaNagar

सत्यखबर यमुनानगर (सुमित ओबेरॉय) – कल यमुनानगर में दिल दहला देने वाले हाईप्रोफाइल महिला हत्याकांड को यमुनानगर पुलिस की सीआईए 2 शाखा ने सुलझा लिया है। नोकर ही निकला मालकिन का हत्यारा जो कि साइको किलर है और अब पुलिस की गिरफ्त में है। मालकिन के खराब बर्ताव के कारण इतना गुस्सा आया कि नोकर ने रसोई घर मे इस्तेमाल होने वाले चाकू से अपनी मालकिन का गला रेत उसकी हत्या कर दी ।वही पुलिस का कहना है की आरोपी नोकर को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा और हत्या के समय पहने कपड़ो को भी लेब में भेजा जाएगा।

नोकर ही निकला साइको किलर। महज़ कम खाने को लेकर नोकर राजेश उर्फ विलत को इतना गुस्सा आया कि उसने 7 महीने के अपने बच्चे के साथ मोबाइल पर अपने बेडरूम में बैठी अपनी मालकिन रोजी सिक्का का गलत रेत उसे उसके 7 महीने के बच्चे के सामने तड़पने के लिए छोड़ दिया और तड़पते तड़पते मर गयी ।नोकर साइको किलर हत्या को अंजाम देकर कपड़े धो कर फिर से घर के आसपास घूमने लग गया ताकि वो पुलिस को गुमराह कर सके।

मिसेज रोजी का जो मर्डर हुआ उसके जांच के लिए हमने चार टीमों का गठन किया था जिसमें एक टीम से यह दो कि इंस्पेक्टर श्री भगवान के नेतृत्व में बनाई गई थी उन्होंने इस को सुलझाने में सफलता हासिल की है ।मिसेज रोजी की हत्या उन्ही के घर काम करने वाले नोकर राजेश उर्फ विलट पासवान ने की है। जिस वक्त ये हत्या हुई रोजी घर पर अकेली थी उनके ससुर और पिता अपने काम पर गए हुए थे।नोकर उनके साथ घर मे काम मे काम करता था। छोटा बच्चा रोजी ओर नोकर घर पर ही थे। नोकर ने बताया कि वो डेढ़ साल से सिक्का परिवार में काम मर रहा था।उसकी मालकिन उसे खाना कम देती थी।जिससे वो कुंठित हो गया उसका पेट नही भर रहा था।मैंने बार बार कहा कि मेरा पेट नही भर रहा था मुझे कहना कम मिल रहा है।

मार्च में मेरे पिता की मौत हो गयी थी में बिहार अपने गांव गया था और अप्रैल में फिर से आ गया था काम करने मुझे घरवालो ने कहा था अपने तीन टाइम के खाने में से एक एक रोटी कुते को दिया कर।मैं अपने खाने में से तीनों टाइम एक रोटी कुते को खिलाता था।मेरा खाना और भी कम हो गया था। कल भी में 10 बजे घर गया और मालकिन से कहा कि भूख लग रही है मुझे खाना कब मिल रहा है और मैं खाने के लिए ही इतनी दूर काम करने आया हूं मैंने 10:00 बजे खाना खाया फिर मुझे 1:30 बजे भूख लगी मैंने आपकी मालकिन को कहा कि मुझे भूख लगी है गाना दे दो तो उन्होंने कहा कि तुमने कहा कि मेरे पति डेढ़ घंटे बाद आएंगे तब खाना दूंगी उससे मुझे बहुत गुस्सा आ गया मैं सोचता सोचता रहा कि मैं क्या करूं कि मैं सारा दिन काम करता हूं कि मुझे भरपेट खाना भी नहीं देते।

मेरा गुस्सा बढ़ता रहा गुस्से में मैं रसोई में गया वहां से मिलने चाकू उठाया मेरी मालकिन रोजी फोन में मोबाइल पर गेम खेल रही थी मैंने लेफ्ट हैंड से उसकी गर्दन पकड़ के दाएं हाथ से उसका गला रेत दिया नौकर ने बताया कि मैंने आपको लगा कर दो तीन बार गला रहने का प्रयास किया एक ही भाग था जिससे उनकी मौत हो अभी हमने उसको गिरफ्तार किया है हम इसको पुलिस रिमांड पर लेंगे सभी पहलुओं पर हम इसकी जांच कर रहे हैं ।मेडिकल रिपोर्ट का भी इंतजार है और गहनता से इससे पूछताछ करके अगर कोई और बात सामने आएगी उसका खुलासा किया जाएगा ।वहीं घटना के वक्त नौकर ने जो कपड़े पहने हुए थे उन्हें कब्ज़े में लेकर लैब में भेजा जाएगा ।लेकिन इसने माना है कि मैंने जो कपड़े पहने हुए थे उस पर खून लगा हुआ था और धोकर मैंने वही सुखा दिया ।

वही हत्या से पहले महिला के साथ जबरदस्ती का भी प्रयास किया गया है इस सवाल का जवाब देते हुए डीएसपी प्रदीप राणा ने कहा कि फिलहाल उसने ऐसी कोई बात नहीं मानी हमने डॉक्टर उसको मेडिकल में क्लियर करने के लिए लिखा है मेडिकल रिपोर्ट का हमें इंतजार है यह इस बात से साफ मना कर रहा है कि ऐसा कुछ नहीं किया बोल रहा है कि ऐसा करना पाप होता है ।जांच में हमें ऐसा लगता है कि नौकर साइको टाइप का है वहीं नौकर की बैकग्राउंड क्या है इसके बारे में भी पुलिस का कहना है कि हम पता कर रहे हैं पूरी जांच की जा रही है कि पहले कहीं इसका कोई अपराधिक रिकॉर्ड ना हो ।जहां का ये रहने वाला है वहां पर भी पूछताछ की जाएगी पहले यह नौकर किसी पुलिस अधिकारी के पास भी काम करता था इस बात पर डीएसपी ने कहा कि इस मामले में अभी कोई बात उसने नहीं बताई इससे पूछताछ की जाएगी।

वहीं बेरहमी से अपनी मालकिन का हत्या करने वाले नौकर राजेश उर्फ विलत ने बताया कि मालकिन रोटी कम दे रही थी इसलिए मारा है मैं डेढ़ साल से यहां काम कर रहा था मार्च में चला गया था फिर मैं वापस अप्रैल में आ गया था ।इससे पहले मैं खिजराबाद में किसी के पास काम करता था ।वहीं जब से पूछा गया कि इसने किसी पुलिस अधिकारी के पास भी काम किया है तो नौकर ने बताया डीएसपी रैंक के अधिकारी के पास भी नौकर था ।नौकर ने उस खूनी वारदात के मंदिर के बारे में बताते हुए कहा कि कल पहले मैंने घर के सारे काम निपटाए फिर मैंने पूछा भाभी रोटी बनाऊं तो उन्होंने कहा कि जब बाकी घर पर आ जाएंगे तब बनाना तो मैंने बोला कि मुझे भूख लगी है।

क्या मैं खाना बना लूं तो बोली कि हमने खाया नहीं तू कैसे खा लेगा हर समय धनगर की तरह चर्चा करता रहता है खाने के लिए मैंने गुस्से में आकर मार दिया चाकू से नौकर ने कहा कि मुझे इतना गुस्सा आया कि मैंने मालकिन का गला रेत दिया नौकर ने बताया कि मैंने पहले इसके लिए कोई प्लानिंग नहीं की थी कोई उससे पूछा गया कि क्या मालकिन के साथ तूने कोई जबरदस्ती भी कि उसका कहना था नहीं मुझे उसी समय ज्यादा गुस्सा आया और मैंने रसोई से चाकू उठाकर मालकिन को मार दिया जब मुझे डंगर बोला तब मैंने मार दिया हत्या के वक्त पहने हुए कपड़े मैंने उधर अपने कमरे में जाकर धो दिए।