रतन लाल कटारिया ने कुमारी शैलजा का नाम लिए बिना दिया महारानी करार

Haryana YamunaNagar

सत्यखबर यमुनानगर (रहीम खान) – अंबाला लोकसभा से भाजपा प्रत्याशी रतन लाल कटारिया ने कुमारी शैलजा का नाम लिए बिना उन्हें महारानी करार देते हुए कहा कि ऐसे लोगों ने ना तो कभी दो गांव का दौरा किया ना ही काम के नाम पर 2 डके तोड़े। जगाधरी विधानसभा क्षेत्र में पार्टी का चुनावी कार्यालय खोलने आये कटारिया अपने कामों को गिनाने की अपेक्षा मोदी सरकार के कार्यो की डुगडुगी बजाते रहे। पत्रकारों के सवालों से परेशान निवर्तमान सांसद ने कहा कि आज उन्होंने चुनावी कार्यालय का उद्घाटन किया है इस शुभ मुहूर्त पर बराए मेहरबानी उन्हें बख्श दो।

भाजपा प्रत्याशी रतन लाल कटारिया ने जगाधरी विधानसभा क्षेत्र में अपने चुनावी प्रचार की शुरुआत कार्यालय खोलने के साथ ही हवन करने से की। पत्रकारों से बातचीत में कटारिया ने अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेस की कुमारी शैलजा का नाम लिए बिना कहा कि उनके मुकाबले में जो महारानी आई है उसने कभी दो ड़के नही तोड़े और न ही कभी दो गावँ का दौरा किया । कटारिया ने कहा कि वह गरीब घर से और जमीन से जुड़े हुए हैं जबकि महारानी बड़े घर की औऱ बड़े नेताओं की बेटी है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 के चुनाव में तो कुमारी शैलजा मोदी लहर के डर के चलते मैदान छोड़कर चली गई थी लेकिन आज तो मोदी नाम की सुनामी पूरे भारत में चल रही है। विपक्ष द्वारा रतन लाल कटारिया द्वारा क्षेत्र में ना आने के आरोपों को सिरे से नकारते हुए कटारिया ने कहा कि वह सांसद है और उन्हें संसद में बहुत काम होते हैं वह सारा दिन अपने क्षेत्र में थोडे रहेंगे। उन्होंने कहा कि विकास समिति का चेयरमैन होने के नाते 5 साल में 20 बार जहां वह केवल बैठक में हिस्सा लेने आए हैं वहीं कोई ऐसा क्षेत्र नहीं है जहां उन्होंने संपर्क ना किया हो। उन्होंने कहा कि ऐसी बातें केवल शरारती लोग उछाल रहे हैं।

राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण कार्यालय की ताजा रिपोर्ट में एनडीए सरकार के कार्यकाल में महिलाओं की बेरोजगारी 11% बढ़ने संबंधी पूछे गए सवाल के उत्तर में उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिए 72 हजार करोड़ रुपए की योजनाएं चलाई है। युवाओं की उपेक्षा कर रतन लाल कटारिया पर ही भाजपा द्वारा नोवी बार विश्वास जताने संबंधी पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि हम युवाओं का पूरा सम्मान करते हैं लेकिन मेरे बाद ही युवाओं को टिकट मिलेगा। चुनाव जीतने के बाद कटारिया द्वारा अपने ड्रीम प्रोजेक्ट गिनाने पर जब उनसे अपने संसदीय काल मे इन कार्यो को क्यो नही करवाया गया तो उन्होंने अपने काम गिनवाने की अपेक्षा मोदी सरकार द्वारा कराए विकास कार्यों की डुगडुगी बजानी आरंभ कर दी। पत्रकारों के सवालों से सकपकाए कटारिया ने कहा कि आज उन्होंने चुनावी कार्यालय का शुभ मुहूर्त किया है बराय मेहरबानी आज उन्हें बख्श दो।